विश्व में केवल कुरुक्षेत्र के आयुष विश्वविद्यालय में 5 पद्घतियों पर होंगे शोध : सुधा

यूनानी, सिद्घा, आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्सा, और होमयोपैथिक सहित भारत की प्राचीन पांचों पद्घतियों में होगा शोध
कुरुक्षेत्र/चन्द्रमणी अत्री
थानेसर विधायक सुभाष सुधा ने कहा कि पूरे विश्व में केवल मात्र कुरुक्षेत्र के आयुष विश्वविद्यालय में ही यूनानी, सिद्घा, आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्सा, और होमीओपैथी सहित भारत की प्राचीन पांचों पद्घतियों में शोध का काम होगा। इससे पूरे विश्व को फायदा होगा और लोगों का इलाज भारत की प्राचीन पद्घतियों के साथ संभव हो पाएगा। इस विश्वविद्यालय की आधारशीला 12 फरवरी 2019 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कुरुक्षेत्र में ही आकर रखी और इस विश्वविद्यालय के लिए 475 करोड़ की राशि भी मंजूर की है।

विधायक सुभाष सुधा शुक्रवार को गांव फतुपुर में आयुष विश्वविद्यालय एवं लोक निर्माण विभाग के तत्वाधान में आयोजित चार दीवारी शिलान्यास कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि के रूप में बोल रहे थे। इससे पहले विधायक सुभाष सुधा, आयुष विश्वविद्यालय के कुलपति डा.बलदेव धीमान, कुल सचिव डा. कृष्ण जाटयान, भाजपा के युवा नेता साहिल सुधा, गांव फतुपुर के सरपंच शमशेर सिंह, ब्लॉक समिति के चेयरमैन देवीदयाल शर्मा, केडीबी के मानद सचिव मदन मोहन छाबडा ने मंत्रोच्चारण के बीच आयुष विश्वविद्यालय की चार दीवारी निर्माण कार्य के लिए भूमि पूजन किया। नारियल तोड कर विधिवत रूप से निर्माण कार्य का शुभांरभ किया। इस दौरान सरपंच शमशेर सिंह द्वारा रखी गई मांग को पूरा करते हुए विधायक ने खेडी रामनगर के उपर से बाईपास बनाने की अनुमति देने के साथ-साथ शीघ्र काम शुरू करने की घोषणा भी की। इतना ही नहीं सरकार की तरफ से अमीन रोड को चौड़ा करने का भी काम  शुरू कर दिया गया है।
इस क्षेत्र को शिक्षा के हब के रूप में विकसित किया जा रहा है। गांव अमीन, खेडी रामनगर और पलवल के आस-पास की जमीन पर आयुष विश्वविद्यालय के साथ-साथ राजकीय महिला कालेज, नर्सिंंग कालेज का निर्माण किया जा रहा है, इससे 1600 से ज्यादा गांव को फायदा होगा। इस मौके पर  लोक निर्माण विभाग के कार्यकारी अभियंता अमित मनोचा, एसडीओ गुरचरण सिंह, राममेहर शास्त्री, डा. आशिष मेहता, डा. अनिल शर्मा, डा. सतीश वत्स, डा. उषा दत्त, रामलाल अमीन, सुरेश नम्बरदार आदि गणमान्य लोग उपस्थित थे।

Post a Comment

0 Comments